आयुर्वेदिक हर्बल वॉटर जो आपको अंदर से करे हील
September 17, 2019 • Swasthaya Rakshak

                       आयुर्वेदिक हर्बल वॉटर जो आपको अंदर से करे हील

__ आयुर्वेदिक एक ऐसा प्राकृतिक नुस्खा है, जो आपके शरीर में पनप रही बीमारियों को ठीक करने में मदद करता है। नेचरल प्रोडक्ट्स हमें फायदा इनका इस्तेमाल शरू करने से पहले ये जरूर पहुंचाते हैं लेकिन इनका इस्तेमाल शरू करने से पहले ये ' सोच लेना जरूरी है कि ये आपके लिए फायदेमंद हैं या नहीं?

 - मेथी दाना स्वाद में हल्की कड़वी होती है

भारतीय भाषा में इंडियन कीनो या मालाबार कीनो के नाम से जाना जाता है

                       ये डायबिटीज को नियंत्रण में करता है

आयुर्वेदिक एक ऐसा प्राकृतिक नुस्खा है, जो आपके शरीर में पनप रही बीमारियों को ठीक करने में मदद करता है। नेचरल प्रोडक्ट्स हमें फायदा जरूर पहुंचाते हैं, लेकिन इनका इस्तेमाल शुरू करने से पहले ये सोच लेना जरूरी है कि ये आपके लिए फायदेमंद हैं या नहीं? इसकी वजह ये है कि कई बार ये दवाएं आपको बीमार भी कर सकती हैं।

दूसरी ओर, आयुर्वेदिक दवाएं उम्र, बॉडी की पावर और बीमारी, उसकी स्टेज, सही मात्रा और मौसम के अनुसार लेने पर ही फायदेमंद साबित होती हैं। इसलिए जब भी ऐसी दवाओं को खाना जरूरी लगे, तो सबसे पहले किसी एक्सपर्ट से सलाह-मशविरा जरूर करें।

 सेहतमंद बने रहने के लिए तरह-तरह के नेचरल जूस का सेवन शुरू करने से पहले उनकी प्योरिटी और इस्तेमाल के लिए हिदायतों पर गौर करना जरूरी होता है। वरना फायदे की जगह आपको नुकसान हो सकता है।

मेथी का पानी   

                भारतीय घरों में इस्तेमाल होने वाली मेथी दाना स्वाद म हल्का कड़वा हाता हा इसम । मौजूद औषधीय गुण आपको कई बीमारियों से बचाते हैं। एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेट्री गुणों से भरी मेथी को अगर आप रात में पानी भिगोकर रख दें और फिर सुबह खाली पेट इसका सेवन करें, तो इससे कई बीमारियों दूर होंगी। मेथी का पानी शरीर से बॉटर रिटेंशन को भी दूर करने में मदद करता है। मेथी में मौजूद अमिनो एसिड पैनक्रिआज में निकलने वाले इनसुलिन को भी कंट्रोल करने में मददगार साबित है, जिसस डायबिटीज में व्यक्ति का ब्लड शुगर लेवल भी नियंत्रण में रहता है।

                                 

विजयसार का पानी

           इसे भारतीय भाषा में इंडियन कीनो या - मालाबार कीनो के नाम से जाना जाता है। ये डायबिटीज को नियंत्रण में कर आयुर्वेद में मोटापे, डायरिया और एग्जिमा से भी राहत दिलाने में मदद करता है। इसमें आपको एपीकाटेव्हिन, मासुपसिन और टेरोसुपसिन जैसे गुण मिलेंगे, जो डायबिटीज में ब्लड ग्लूकोज लेवल को कंट्रोल करने में कारगर है। ये आयुर्वेदिक नुस्खा हमारे शरीर में पैनक्रिआज में बीटा-सेल्स को भी नया बनाने में मदद करता है। वियजसार को रात के समय पानी में भिगोकर रख दें और सुबह में जब पानी हल्का भूरा हो जाए, तो उसे खाली पेट पी लें।